मंगलवार के अचूक उपाय और हनुमान जी की पूजा विधि

हनुमान जी की पूजा विधि आइये जानते हैं

  1. प्रत्येक मंगलवार को हनुमान जी को सिंदूर चढ़ाया जाये तो समस्त दुखों से मुक्ति मिलती है और जीवन से भय दूर होता है।
  2. हनुमान जी को कलियुग का देवता भी माना गया है, अगर आप मंगलवार के दिन सुबह बरगद (वट) के पेड़ के एक पत्ते को तोड़कर गंगा जल से धो कर हनुमान जी को अर्पित करें तो धन की प्राप्ति होती है।
  3. हनुमान जी को पान बहुत प्रिय है अगर सात मंगलवार पान का बीड़ा (मीठा पान) नियम से हनुमान जी को चढ़ाया जाए तो रोजगार में अपार सफलता मिलेगी और नौकरी में प्रमोशन अवश्य होगा।
  4. मंगलवार को शाम के समय लाल वस्त्र धारण कर हनुमान जी को केवड़े का इत्र और गुलाब के फूल की माला चढ़ाएं तो धन आगमन के रस्ते सुगम होंगे।
  5. मंगलवार का व्रत नियम अनुसार कर के शाम को बूंदी के लड्डू या बूंदी का प्रसाद हनुमानजी को भोग लगाकर भक्तों या गरीबों में बांटने से संतान संबंधी समस्याएं दूर होती है।
  6. अगर आपको बुरे सपने आते हैं तो मंगलवार दे दिन एक छोटा सा टोटका करें, मंगलवार को हनुमान जी के चरणों में फिटकरी रखने से बुरे सपनों से छुटकारा मिलता है।
  7. मंगलवार की सुबह हनुमान जी के चरणों में बैठकर ‘रामरक्षास्त्रोत’ का पाठ करने से सारे बिगड़े काम बन जाते हैं और कर्ज से भी मुक्ति मिल जाती है।
  8. मंगलवार के दिन हनुमान जी को प्रसन्न करने का सबसे सरल उपाय यह है कि संकटमोचन कहे जाने वाले बजरंगबली जी की प्रतिमा के समक्ष बैठकर 108 बार राम नाम का जाप करें
  9. शत्रुओं से छुटकारा पाने के लिए मंगलवार के दिन संकटमोचन हनुमान जी के सामने सरसों के तेल का दिया जलाएं और हनुमान चालीसा का पाठ करें।
  10.  मंगलवार को हनुमान जी को चोला चढ़ाने से सभी बुरी शक्तियों से छुटकारा मिलता है और संकटमोचक का आशीर्वाद प्राप्त होता है।

मंगलवार के दिन हनुमान जी की पूजा विधि

मंगलवार के दिन सुबह स्वच्छ जल में गंगाजल डालकर स्नान करें, हनुमानजी को उनकी प्रिय सामग्री, सिन्दूर, चमेली का तेल, गुड़, चने, केला, पान का पत्ता और बूंदी के लड्डू लेकर बालाजी को अर्पित करें और फिर हनुमान चालीसा या सुंदरकांड का पाठ करें और फिर हनुमानजी के मंत्र ॐ हं हनुमंतये नम: या ॐ हं हनुमते रुद्रात्मकाय हुं फट का रुद्राक्ष की माला से जाप करें। पूरा दिन ब्रह्मचर्य का पालन करते हुए शाम को गाय या बंदरों को रोटी या गुड़ चुने खिलाएं और उसके बाद खुद मीठा भोजन करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *